जॉब साइट नौकरी.कॉम ने छमाही सर्वे ‘नौकरी हायरिंग आउटलुक जुलाई-दिसंबर 2019’ में बताया कि 3-4 साल एक्सपीरियंस वाले कर्मचारियों की मांग सबसे ज्यादा रह सकती है। सर्वे में शामिल 78 प्रतिशत कंपनियों ने अगले छह महीनों में हायरिंग ऐक्टिविटी बढ़ने की अनुमान लगाया।

नई दिल्ली 
कंपनियां साल की दूसरी छमाही में स्टाफ बढ़ाने का प्लान बना रही हैं। जॉब साइट नौकरी.कॉम ने छमाही सर्वे ‘नौकरी हायरिंग आउटलुक जुलाई-दिसंबर 2019’ में बताया कि 3-4 साल एक्सपीरियंस वाले कर्मचारियों की मांग सबसे ज्यादा रह सकती है। सर्वे में शामिल 78 प्रतिशत कंपनियों ने अगले छह महीनों में हायरिंग ऐक्टिविटी बढ़ने की अनुमान लगाया, पिछले साल इसी अवधि में यह आकंड़ा 70 प्रतिशत था।

 

बढ़ सकती है टैलेंट की तंगी!
रोजगार के अवसर बनना अच्छा संकेत है, लेकिन कंपनियों को सही टैलेंट खोजने में दिक्कत हो रही है। सर्वे में 41 प्रतिशत रिक्रूटर्स ने बताया कि अगले छह महीनों में टैलेंट की तंगी बढ़ सकती है। एक साल पहले यह आशंका 50 प्रतिशत कंपनियों ने जताई थी। रिपोर्ट के मुताबिक, 15 प्रतिशत कंपनियों का कहना है कि अगली छमाही में सिर्फ रिप्लेसमेंट हायरिंग होगी। वहीं 5 प्रतिशत का मानना है कि हायरिंग में कोई बढ़ोतरी नहीं होगी, जबकि कुल कंपनियों में से एक प्रतिशत छंटनी की आशंका जता रहे हैं।

3-5 साल एक्सपीरियंस वालों की ज्यादा हायरिंग
आईटी, बीएफएसआई और बीपीओ की करीब 80 प्रतिशत कंपनियां नए नौकरियां पैदा होने का संकेत दे रही हैं। सर्वे में बताया गया है कि सबसे ज्यादा हायरिंग 3-5 साल एक्सपीरियंस वाले सेगमेंट में होगी। इसके बाद 1-3 साल एक्सपीरियंस वालों को मौके मिलेंगे। बीपीओ सेक्टर की कंपनियां अपनी कुल हायरिंग में 50 प्रतिशत जगह 0-1 साल अनुभव रखने वाले कैंडिडेट को देंगी। वहीं, ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री 12 साल से ज्यादा एक्सपीरियंस वाले प्रोफेशनल्स को हायर करेंगी।

10% रहेगी जॉब बदलने वालों की दर
नौकरी.कॉम के चलाने वाली इंफोएज इंडिया के चीफ मार्केटिंग ऑफिसर सुमित सिंह ने बताया, ‘जिन लोगों से बात की गई उनमें से 78 प्रतिशत ने अगले छह माह में नियुक्ति का माहौल बेहतर रहने की उम्मीद जताई।’ सर्वे में शामिल आधी से अधिक कंपनियों ने बताया कि नौकरी बदलने वालों की दर 10 प्रतिशत रहेगी। वहीं, अन्य 20 प्रतिशत कंपनियों का मानना है कि नौकरी बदलने वालों की संख्या 10-20 प्रतिशत के बीच रह सकती है। एक से पांच साल का अनुभव रखने वाले कर्मचारियों में नौकरी बदलने के मामले सबसे ज्यादा देखने को मिलेंगे।
क्या चाहते हैं नौकरी बदलने वाले कर्मचारी
अधिकतर कंपनियों और कैंडिडेट्स के मुताबिक, बेहतर कंपनसेशन, अच्छी प्रोफाइल और करियर ग्रोथ नौकरी बदलने वाले कर्मचारियों की लिस्ट में सबसे ऊपर हैं। हालांकि, कुछ एंप्लॉयीज रिलोकेशन और मैनेजर की वजह से भी दूसरी कंपनी में चले जाते हैं। इस हायरिंग आउटलुक में 15 से ज्यादा बड़ी इंडस्ट्रीज की लगभग 2,700 कंपनियां और कंसल्टेंट्स शामिल थे।

 

source : navbharattimes.indiatimes.com

Related News

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*